Wednesday, September 23, 2009

प्रवीण जाखड़ जी और संगीता पुरी जी तो बहाना है, मुझे तो कुछ कर गुजरना है....

जल्द एक पोस्ट पुब्लिश करूंगा

प्रवीण जाखड़ जी और

1 comment:

खुशदीप सहगल said...

ये एलियंस का दूसरा दयार है...जिन्होंने एलियंस का पहला संदेश पढ़ा था, वो अब तो यकीन कर लें...एलियंस संदेश भेजने की फ्रीक्वेंसी बढ़ाते जा रहे हैं...अब वो जल्दी ही हमारे बीच होंगे...धन्यवाद पंकज भाई...एलियंस का संदेश नम्बर 2 पकड़ने का...